Smart-City

रायपुर देश का पहला स्मार्ट सिटी बनेगा। इसके लिए गुरुवार को केंद्र सरकार ने मंजूरी दे दी है। यह स्मार्ट सिटी नया रायपुर, रायपुर और बीच के एरिया को विकसित कर बनाया जाएगा। नया रायपुर रायपुर से दक्षिण पूर्व दिशा में करीब 17 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इसे पहले ही स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित किया जा रहा है। 8,000 हेक्टेयर एरिया में फैले इस शहर में विश्व स्तर के इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ, विश्वस्तरीय शिक्षा, स्वास्थ्य, मनोरंजन के इंतजाम हो रहे हैं। लेकिन रायपुर और नया रायपुर के बीच एक लंबा गैप है। इस हिस्से को भी स्मार्ट सिटी में शामिल किया गया है। कैसी होगी स्मार्ट सिटी स्मार्ट सिटी के रूप में विकसित करते वक्त यहां के सामाजिक और आर्थिक पहलुओं को ध्यान में रखते हुए सड़कें और बेसिक इंफ्रा डेवलप किया जाएगा। यह स्मार्ट सिटी विश्वस्तरीय सुविधाओं से लैस होगी। बीच के हिस्से में अंडरग्राउंड केबल, ड्रेनेज और वाटर सिस्टम के साथ जगह-जगह वाइफाई जोन विकसित किए जाएंगे। स्मार्ट सिटी को बसाने की जिम्मेदारी नया रायपुर विकास प्राधिकरण को सौंपी गई है। स्मार्ट सिटी बसाने पर शुरुआती लागत 1,500 करोड़ रुपए से लेकर 2,000 करोड़ रुपए आने की संभावना बताई जा रही है। इस स्मार्ट सिटी में एक दशक के भीतर करीब 4.5 लाख लोगों के बसने का अनुमान है।कमल विहार भी शामिल होगा स्मार्ट सिटी में स्मार्ट सिटी के तहत अब पुराने और नए रायपुर सहित बीच के हिस्से में स्मार्ट सिटी की सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। पुराने और नए रायपुर के बीच का गैप भरने के लिए हाल में कमल विहार की नई योजना लाई गई है। यह कमल विहार भी स्मार्ट सिटी से कनेक्ट हो जाएगा। दोनों कमल विहार का इंफ्रा स्मार्ट सिटी के तर्ज पर डेवलप हो रहा है। इनके स्मार्ट सिटी का हिस्सा बनने पर नई राजधानी की पुराने शहर से दूरी भी कम होगी। स्मार्ट सिटी बनाने के लिए चयनित क्षेत्र में फोरलेन सड़कों का जाल बिछाया जाएगा। सड़कों के किनारे कई तरह की अत्याधुनिक सुविधाएं विकसित होंगी।केंद्र से मिला पूर्ण सहयोग का आश्वासन शहरी विकास एवं आवास मंत्रालय ने स्मार्ट सिटी विकसित करने में हरसंभव वित्तीय मदद उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया है। यह स्मार्ट सिटी देश में अन्य शहरों के लिए मॉडल साबित होगा। गौरतलब है कि मुख्यमंत्री रमन सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात कर नया रायपुर को उन 100 शहरों की सूची में शामिल करने की गुजारिश की थी। क्या है स्मार्ट सिटी ?शहरों के विकास में स्मार्ट सिटी कान्सेप्ट का अर्थ है अत्याधुनिक इंफ्रा स्ट्रक्चर के साथ बौद्धिक और सामाजिक सहूलियतों के इंतजाम के प्राकृतिक संसाधनों का कुशलता से प्रबंधन कर एक उच्च स्तर की लाइफ स्टाइल वाला शहर डेवलप करना। अभी तक शहर में अच्छी सड़कें, गगनचुंबी इमारतें, चमचमाती गाड़ियां, सजे-धजे होटल, रेस्त्रा और व्यापारिक प्रतिष्ठान आते थे। लेकिन स्मार्ट सिटी में इंटलेक्चुअल और सोशल पहलुओं को जोड़कर हाईक्लास फैसलिटी डेवलप की जा रही है। आपका भवन आपके घर की बिजली आन-आफ करता हो, गाड़ियां खुद अपनी पार्किंग ढूंढ लें, स्टीट लाइट स्वचालित रूप से आन और आफ हों । – नया रायपुर और रायपुर के बीच के हिस्से को मिलाकर स्मार्ट सिटी डेवलप किया जाएगा। केंद्र सरकार ने हमारे प्रेजेंटेशन को सराहा और भरपूर मदद देने का आश्वासन दिया है। नया रायपुर पहले ही इसी तर्ज पर डेवलप हो रहा है, अब संपूर्ण रायपुर इसमें शामिल होगा।अमित कटारिया, सीईओ, एनआरडीए .